ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

प्रबंधकों के लिए उनकी विफलताओं का खुलासा करना क्यों महत्वपूर्ण है?

दुनिया भर के कारोबारी उद्यम, कर्मचारी प्रशिक्षण और विकास में निवेश कर रहे हैं। इसके पीछे का कारण साफ है, बेहतर प्रशिक्षित कर्मचारी चुनौतियों से बेहतर ढंग से निपट सकते हैं

पर कुछ विफलताओं का होना तो अवश्यसंभावी है ही। गलत निर्णय अकसर न केवल संबंधित टीम को प्रभावित करते हैं, बल्कि उनके अप्रत्यक्ष प्रभाव पूरे संगठन में महसूस हो सकते हैं। पर विफलताओं को रचनात्मक दृष्टि से देखकर, प्रबंधक न केवल कर्मचारियों को उनके प्रदर्शन में सुधार लाने में, बल्कि टीम कार्य और आपसी सहयोग को मूर्त रूप देने में भी सहायता कर सकते हैं

एक टीम-लीडर या प्रबंधक होने के नाते आपके लिए अपने अधीनस्थों से अपनी विफलताओं को साझा करना और उन पर चर्चा करना आपके लिए अत्यंत महत्वपूर्ण क्यों हो जाता है यह जानने के लिए आगे पढ़ें

 

आपसी समझ विकसित करें

जब आप अपने सहकर्मियों के साथ अपनी विफलताओं को सबक के रूप में साझा करते हैं, तो इससे आपको उनके साथ एक आपसी समझ विकसित करने में मदद मिलती है। कर्मचारी अपने दैनिक कार्य करते समय अकसर अपने लीडरों को बहुत सम्मान देते हैं। इसलिए, ऑफिस के और बाहरी माहौल में उनके साथ अपनि विफलताएं साझा करने से आपको अपनी कंपनी में सकारात्मक गुणों को सामने लाने और कर्मचारियों का प्रदर्शन बढ़ाने में मदद मिलती है

 

विफलताओं के बारे में बात करने से भरोसा बढ़ता है

अपनी विफलताओं को मान देना अपनी सफलताओं का जश्न मनाने जितना महत्वपूर्ण है। अध्ययनों से पता चला है कि जब कर्मचारियों को अपने प्रबंधकों के सफलता से पहले के संघर्षों के बारे में पता चलता है तो वे खुद को उनसे बेहतर ढंग से जोड़ पाते हैं। असल में, कर्मचारी ऐसे प्रबंधकों पर अधिक भरोसा करते हैं जो अपनी विफलताओं के बारे में साफ-साफ बोलते हैं। इसलिए समझदारी इसी में है कि आप सिर्फ शब्दों से नहीं बल्कि उदाहरण बनकर नेतृत्व करने के लिए अपनी सफलताओं और विफलताओं के अनुभव के बारे में खुलकर चर्चा करें

 

बढ़त की सोच को बढ़ावा मिलता है

हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल की असिस्टेंट प्रोफ़ेसर एलिसन वुड ब्रुक्स ने अपने एक शोध कार्य में पाया कि लोग विफलताओं के बिना मिली सफलताओं की तुलना में विफलताओं से गुजरकर मिली सफलताओं से खुद को अधिक जोड़ पाते हैं। इसलिए, एक प्रबंधक के रूप में इस बात पर जोर देने में कोई नुकसान नहीं है कि सफलता का कोई शॉर्ट-कट नहीं होता है और उनके पेशेवर विकास के लिए विफलताएं आवश्यक भी हो सकती हैं। इस प्रकार, इस बात की संभावना बढ़ती है कि कर्मचारी आपसे सक्रिय रूप से फीडबैक मांगेंगे और अपनी सीखने संबंधी ज़रूरतों की ज़िम्मेदारी और नियंत्रण अग्रसक्रिय ढंग से अपने हाथों में लेंगे

 

टीम भावना पनपती है

बढ़ने के लिए यह जरूरी है कि टीम कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधन द्वारा तय प्रदर्शन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए लगातार कोशिशें करती रहे। चूंकि अलग-अलग कर्मचारियों के प्रेरणा और सक्षमता के स्तर अलग-अलग होते हैं, इसलिए यह भूमिका प्रबंधक की है कि वह कर्मचारियों के बीच टीम भावना पनपाए और अपनी विफलताओं और उन्हें सफलता में कैसे बदला गया इसकी कहानियां उन्हें सुनाकर सुनिश्चित करे कि प्रत्येक कर्मचारी समान रूप से प्रेरित रहे

व्यक्तिगत मुख्य परिणाम क्षेत्रों (की रिज़ल्ट एरिया, केआरए) पर चर्चा करते समय आपको यह भी साफ-साफ समझाना चाहिए कि विभाग और संगठन की समग्र सफलता के लिए वे कितने महत्वपूर्ण होते हैं। इससे खराब प्रदर्शन करने वाले कर्मचारी संपूर्ण टीम पर उनके प्रदर्शन के प्रभाव के बारे में संवेदनशील बनते हैं। अपने सहकर्मियों पर बोझ बनने की बजाय वे अपनी विफलताओं से सीखकर, टीम के समग्र लक्ष्यों में सकारात्मक योगदान करने की आवश्यकता को महसूस करते हैं

एक प्रबंधक होने के नाते आपको अनथक प्रयास करते हुए यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके कर्मचारी एक आदर्श परिवेश में कार्य करें और सर्वोत्तम संभव टेक्नोलॉजी और बुनियादी ढांचा उनके लिए सुलभ हो। भारत का एक अग्रणी नॉन-बैंकिंग वित्तीय संस्थान होने के नाते रिलाइंस मनी आपको अपने एसएमई फाइनेंसिंग समाधानों के जरिए मदद कर सकता है जो आपको अपने कारोबार को फैलाने के लिए विभिन्न प्रयोजनों हेतु विभिन्न प्रकार के लोन प्रदान करते हैं