ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

अपने वर्कशॉप में वायु प्रदूषण को कम करने के सुझाव

वायु प्रदूषण अनेक प्रकार से व्यावसायिक कार्यों में बाधा डाल सकता है। न केवल यह आपके कर्मचारियों के स्वास्थ्य और उत्पादकता में गिरावट लाता है, बल्कि इसके परिणामस्वरूप काम-काज बंद करने तक की नौबत आ सकती है। उत्पादकता में कमी, दीर्घकालीन व्यावसायिक लक्ष्यों को प्रभावित कर सकती है और इसलिए व्यवसाय के मालिक के रूप में आपकी वर्कशॉप में वायु प्रदूषण स्तर कम रखना आपके लिए बहुत ज़रूरी है

यहां कुछ कारगर उपाय बताए गए हैं, जिनसे आप अपनी वर्कशॉप में यह मुसीबत कम कर सकते हैं और प्रचालन दक्षता बेहतर बना सकते हैं

 

1. नियमित रूप से वायु गुणवत्ता की जांच करें

अपनी वर्कशॉप में वायु प्रदूषण की निगरानी, मापन, नियंत्रण, और कमी करने के लिए प्रणालियां स्थापित करें। कणीय पदार्थ (पीएम 10 और पीएम 25), नाइट्रोजन डाइऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड, ओजोन, कार्बन मोनोऑक्साइड, अमोनिया और लेड, वायु प्रदूषण के लिए प्रमुख जिम्मेदार प्रदूषक हैं

इनमें से ज्यादातर किसी फैक्टरी वर्कशॉप में आमतौर से पाए जाते हैं। वायु गुणवत्ता उपकरण स्थापित करके उनकी निगरानी करने से आपको आसानी से जोखिम पहचानने, तथा समस्या काबू से बाहर होने से पहले हल करने के उपाय करने में मदद मिल सकती है

 

2. वर्कशॉप की प्रगति का मूल्यांकन करें

चाहे आपकी वर्कशॉप अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद बना सकती हो, लेकिन उत्पादन प्रक्रिया के उप-उत्पाद पर्यावरण के लिए हानिकारक हो सकते हैं

आपकी वर्कशॉप की प्रक्रियाओं का मूल्यांकन और मापन करने से न केवल उनको व्यवस्थित करने में मदद मिलती है, बल्कि सिस्टम में कमियों की पहचान करने में भी सहायता मिलती है, जो कि प्रदूषण के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं

 

3. मानक सामग्रियों के आर्गनिक विकल्प खोजें

वर्कशॉप की मानक सामग्रियां, जो कि प्रायः केमिकल आधारित होती हैं, प्रदूषण स्तर बढ़ाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाती हैं। हालांकि उनके आर्गनिक विकल्पों के दोहरे लाभ होते हैं-वे लागत-कुशल भी होती हैं और प्रदूषण भी कम करती हैं

अतः आर्गनिक विकल्पों से बदली जा सकने वाली सामग्रियों की पहचान करके आपको लागतें कम करने तथा वायु प्रदूषण कम करने में मदद मिल सकती है

 

4. मानक नियमों और विनियमों का पालन करें

उक्त नियमों और विनियमों की अनुपालना, यह सुनिश्चित करती है कि अनुपालना प्राधिकारियों द्वारा निर्धारित सबसे उचित मानकों का पालन करते हुए आपकी कारोबारी प्रक्रियाएं निर्धारित व संचालित होंगी। कोई प्रक्रिया स्थापित करने से पहले, संबंधित अधिकारियों से बात करके प्रदूषण स्तर कम रखने संबंधी मानक निर्धारित नियमों की जानकारी कर लें

यह शुरूआत में कुछ कठिन लग सकता है, लेकिन दूरगामी लाभों पर विचार करते हुए ये शुरूआती कठिनाईयां आपको बहुत मामूली लग सकती हैं

 

5. रिसाइकिल और पुनः उपयोग करें

उत्पादों को रिसाइकिल और पुनः उपयोग करने से कच्चे माल को एक्सट्रैक्ट और रिफाइन करने की ज़रूरत कम हो जाती है। इससे वायु प्रदूषण कम करने में बड़ी मदद मिलती है। इससे बिजली की भी बचत होती है, इस तरह से ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन में कमी आती है जिससे जलवायु परिवर्तन का सामना करने में आप योगदान कर पाते हैं

आप जितनी अधिक सामग्री रिसाइकिल करते हैं, लैंडफिल्स में उतना ही कम जाता है, जिससे पर्यावरण की गुणवत्ता में सुधार होता है

 

निष्कर्ष

वायु प्रदूषण स्तर कम करने से आपके कर्मचारियों की सेहत सही रहती है और वे सर्वोत्तम ढंग से काम करने के लिए प्रोत्साहित होते हैं। इससे उत्पादकता बढ़ती है और इसके परिणामस्वरूप राजस्व और नकदी प्रवाह में बढ़ोत्तरी होती है। हालांकि फैक्टरी में वायु प्रदूषण स्तर कम करने के लिए आवश्यक उपाय अपनाने के लिए सामग्रियों और उपकरणों में पर्याप्त निवेश करना होता है। क्रियान्वयन के दायरे के अनुसार लागत कई लाख रूपए हो सकती है

रिलायंस मनी से व्यावसायिक विस्तार ऋण , आपकी वर्कशॉप में वायु प्रदूषण कम करने के उपाय अपनाने, तथा स्वस्थ कार्य परिवेश निर्मित करने में मदद करता है