ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

प्रयुक्त (सेकेंड हैंड) कार खरीदते समय ध्यान देने लायक बातें

सेकेंड हैंड कार खरीदना एक बुद्धिमानी भरा विकल्प है क्योंकि इसमें कम पूंजी निवेश करनी पड़ती है और उचित कीमतों पर लग्जरी मॉडल प्राप्त किए जा सकते हैं। इसलिए हाल के वर्षों में भारत में यूज्ड कार का बाज़ार काफी तेज गति से बढ़ा है। हालांकि प्री-ओन्ड कारों के साथ कुछ खास तरह की चुनौतियां भी जुड़ी होती हैं

पुरानी कारों में टायरों, बैटरी, तथा अन्य घिसे-पिटे पुरजों को बदलने की ज़रूरत हो सकती है। इसके अलावा वे कम भरोसेमंद भी होती हैं तथा अक्सर खराब हो सकती हैं। इसलिए, प्री-ओन्ड कार को खरीदने से पहले उसकी अच्छी तरह जांच कर लेना आवश्यक होता है, ताकि बाद में पछताना न पड़े। इसके लिए, यहां 5 सुझाव दिए गए हैं, जो सेकेंड-हैंड कार खरीदते समय ध्यान में रखने चाहिए

 

1. अपना बजट निर्धारित करें

आगे बढ़ने से पहले, आपको अपना बजट निर्धारित करना और यह तय करना होगा कि प्री-ओन्ड कार खरीदने के लिए आप कितना खर्च कर सकते हैं। इस तरह से आप खुद पर अधिक आर्थिक बोझ डालने से बच सकते हैं और अपनी सामर्थ्य के भीतर रहकर बेहतर चुनाव कर सकते हैं। बजट निर्धारित करते समय कार खरीदने की लागत के अलावा दूसरे खर्चों जैसे कि बीमा और आरटीओ शुल्क पर भी विचार कर लें

 

2. कार निर्माता और मॉडल चुनें

एक बार आपका बजट निर्धारित हो जाने पर, अपने बजट में सही कार खोजना अगला कदम है। अपने शहर में सेकेंड हैंड कारों के डीलर खोजने के लिए आप इंटरनेट पर देख सकते हैं, अपने बजट में कारें खोज सकते हैं और उसकी विशेषताएं तथा विनिर्दिष्टियां समझकर अपनी ज़रूरतों के अनुसार सही मेक और मॉडल का चुनाव कर सकते हैं

 

3. प्रमाणित प्री-ओन्ड वाहन खरीदें

प्रमाणित यूज्ड कार खरीदना सदैव अच्छा रहता है, क्योंकि इससे खरीदार को एक अतिरिक्त आश्वस्ति मिलती है। डीलर, कार को आपके हाथ बेचने से पहले उसका गहन परीक्षण करते हैं और प्रमाणित करते हैं। प्रमाणित वाहन आपको वही अनुभव दे सकते हैं जो नई कार से मिलता है

 

4. टेस्ट ड्राइव करें और कार का निरीक्षण करें

आप जो वाहन खरीदना चाहते हैं, उसे टेस्ट ड्राइव करके उसकी सवारी का पूरा अनुभव प्राप्त करना भी ज़रूरी है। इससे आपको एक आइडिया मिलता है कि आपके चलाने पर कार किस तरह प्रतिक्रिया करती है। इसके अलावा, कार खरीदने का अंतिम निर्णय करने से पहले उसके मैकेनिकल और फिजिकल पुरजों का खुद निरीक्षण करें या किसी मैकेनिक से कराएं

 

5. कार के दस्तावेजों की पूरी जांच करें

वाहन और उसके मालिक की असलियत जानने के लिए, सौदा फाइनल करने से पहले कार के दस्तावेजों का निरीक्षण करना बहुत महत्त्वपूर्ण है। आरटीओ पेपर्स जैसे कि कार का पंजीकरण प्रमाणपत्र, टैक्स टोकन, और वाहन के मौजूदा बीमा दस्तावेज जांचें। दस्तावेजों पर दिए इंजन और चेसिस नंबर का वाहन पर अंकित नंबरों से मिलान कर लें

 

Apart from the above factors, you also need to have an idea of how you’re going to finance your car purchase. You can either buy the vehicle with full down-payment or opt for financing options like car dealer, bank loan or Credit Union, etc. Reliance Money, one of the leading financial institution in India also provides Used Car Loan for smart and easy purchase of your dream vehicle