ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

भारत में आपका कपड़ा कारोबार (टेक्सटाइल बिजनेस) बढ़ाने से पहले ध्यान में रखने लायक बातें

भारत में अपने टेक्सटाइल कारोबार को बढ़ाने के लिए, एक सम्पूर्ण कारोबारी योजना बनाने, विविध सरकारी योजनाओं का लाभ लेने, और फैब्रिक्स की मांग समझने की आवश्यकता होगी

भारतीय टेक्सटाइल उद्योग जो कि 2020 तक USD 230 बिलियन तक पहुंच जाने का अनुमान है, यह तकनीकी सुधारों, राजकीय करों में रियायत, तथा भारत सरकार द्वारा घोषित वित्तीय सहायता के कारण वृद्धि के मजबूत पथ पर अग्रसर है

भारतीय टेक्सटाइल सेक्टर का भविष्य उज्ज्वल दिखता है और आपका कारोबार बढ़ाने का यह एकदम सही समय है क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों, खासकर अमेरिका, चीन, बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका व अन्य देशों में भारतीय टेक्सटाइल की ऊंची मांग है

संगठित रिटेल के बढ़ते प्रसार, और लोगों के बढ़ते आय स्तरों के साथ, भारत सरकार द्वारा टेक्सटाइल निर्यातों को गति देने के लिए रू. 71.48 बिलियन के विशेष पैकेज की घोषणा को देखते हुए, वर्तमान आर्थिक माहौल, विस्तार के लिए अनुकूल है। हालांकि अपनी विस्तार योजनाएं निर्धारित करने से पहले कुछ विशेष बातें आपको अवश्य ध्यान में रखनी चाहिए

 

एक सम्पूर्ण योजना तैयार करें

विस्तार से पहले, नीचे दी बातें रेखांकित करते हुए एक सम्पूर्ण कारोबारी योजना बनाना ज़रूरी हैः

  • विस्तार का उद्‌देश्य
  • मुख्य लक्ष्य
  • राजस्व सृजन मॉडल
  • मुख्य प्रदर्शन संकेतक
  • सूक्ष्म और वृहद बाज़ारों का विश्लेषण

मजबूत योजना बनाने में पूरा समय दें और अपनी कंपनी के सभी हितधारकों और मुख्य सदस्यों की राय शामिल करें। कई बार समीक्षा करके यह पक्का करें कि आपने हर नजरिए को इसमें शामिल कर लिया है

  • स्थानीय कानूनों के प्रति जागरूक रहें और सरकारी योजनाओं का फायदा उठाएं

विस्तार से पहलेः जमीन अधिगृहीत करने, लाइसेंस प्राप्त करने, पर्यावरणीय मंजूरी लेने, और सुरक्षा मानकों व अन्य अनुमतियां प्राप्त करने को लेकर जागरूक रहना ज़रूरी है। जहां आप आंशिक जानकारी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं, वहीं पूरी जानकारी के लिए स्थानीय अधिकारियों से बात करना आवश्यक होता है

नोट करें कि भारत सरकार ने टेक्सटाइल उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं चला रखी हैं जैसे कि

  • अमेंडेड टेक्नोलॉजी अपग्रेडेशन फंड स्कीम (ATUFS) – टेक्सटाइल प्रोद्योगिकी को बढ़ावा देना, तथा तकनीकी उन्नत करघों का प्रचलन इसका ध्येय है
  • इंटिग्रेटेड स्किल डेवेलपमेंट स्कीम (ISDS) – प्रशिक्षित कर्मचारियों की ज़रूरत पूरी करना इसका ध्येय है
  • कॉम्प्रेहेंसिव हैंडलूम क्लस्टर डेवेलपमेंट स्कीम (CHCDS) – हथकरघा बुनकरों को सशक्त बनाना और उनकी क्षमता बढ़ाना इसका ध्येय है
  • यार्न सप्लाई स्कीम (YSC) – मिल गेट कीमत पर धागा उपलब्ध कराना इसका ध्येय है

विस्तार से पहले, पता करें कि किस तरह से ये स्कीमें, लंबे समय में आपके कारोबार के लिए फायदेमंद हो सकती हैं

  • फैब्रिक्स की मांग का पता लगाने के साथ बाज़ार के बारे में गहराई से खोजबीन करें

गहन बाज़ार अनुसंधान से आपको अपने प्रतिस्पर्धियों को जानने, संभावित साझेदारों की पहचान करने, तथा वितरण माध्यमों का आकलन करने में मदद मिलेगी। इससे आपको यह ज्ञान मिलेगा कि आपका लक्षित बाज़ार, आपके उत्पाद से परिचित है या नहीं, और यह कि अपनी प्रतिष्ठा बनाने के लिए आपको कौन से कदम उठाने की ज़रूरत है

बाज़ार अनुसंधान करने से आपको ऊंची मांग वाले फैब्रिक का पता लगाने में भी मदद मिलेगी। उदाहरण के लिए, एशिया पैसेफिक और यूरोप में लिनेन फैब्रिक की मांग ज्यादा रहती है क्योंकि यह गर्म और नम मौसम में बेहतर ठंडक और ताजगी देता है। इसी तरह से, परिधानों में चिकनापन और मुलायमियत लाने वाले ब्लेंडेड फैब्रिक्स की मांग भी बढ़ रही है

  • वित्तीय विकल्पों पर विचार करें

ज्यादातर विस्तार योजनाएं, वित्त के अभाव के कारण स्थगित रह जाती हैं। इसलिए, विस्तार के दौरान होने वाले खर्चों को पूरा करने के लिए वित्तपोषण के उचित विकल्पों पर विचार करना अनिवार्य है। अब वित्तीय संस्थानों द्वारा विशेष कारोबारी विस्तार लोन दिए जाते हैं, जिनसे विस्तार हेतु आवश्यक धन जुटाने में आपको मदद मिलती है

नोट करें कि विस्तार किए जाने के दौरान, अप्रत्याशित खर्चे भी आपके सामने आ सकते हैं। कच्चे माल की कीमतों में अचानक बढ़ोत्तरी, मशीनरी पर नए कर आदि चीज़ें, आपके बजट पर बोझ बढ़ा सकती हैं। इसलिए, अनियोजित खर्चों से निबटने के लिए अपने पास कुछ अतिरिक्त धन की व्यवस्था रखना आवश्यक होता है

रिलायंस मनी, प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों पर तथा लचीली लोन अवधि और पुनर्भुगतान के अनुकूलित विकल्पों के साथ कारोबारी विस्तार के लोन प्रदान करता है। हमारे कारोबारी विस्तार ऋणों के बारे में यहांअधिक जानें