ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

अपने कारोबार की वेबसाइट के लिए आपको इन मुख्य मापों की ट्रैकिंग करनी चाहिए

चाहे पुराना हो या नया, हर कारोबारी के लिए आंकड़ों को समझना बहुत जरूरी होता है। संचालन और प्रक्रियाओं की तरह कारोबार की वेबसाइट भी ढेर सारे आंकड़े पैदा करती है जिन्हें समझना, उसकी प्रभावशीलता को मापने के लिए बहुत जरूरी होता है। अपनी वेबसाइट के प्रदर्शन को ट्रैक करने के लिए आपको जिन मुख्य मापों का करीबी मूल्यांकन करना चाहिए उनके बारे में इस लेख में बताया गया है

 

1. हिट्स रिसीव्ड (प्राप्त हिट्स की संख्या)

हिट्स की संख्या आपको आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोगों की संख्या का अनुमान बताती है। आगंतुकों की संख्या, आपकी वेबसाइट को मिलने वाले हिट्स की संख्या के समानुपाती होती है। हिट्स को ट्रैक करते समय आपको दो चीजों का ख्याल रखना है

  • नए आगंतुकों से प्राप्त हिट्स
  • दोबारा आने वाले आगंतुकों से प्राप्त हिट्स

नए आगंतुकों से अधिक संख्या में हिट्स मिलने का यह मतलब है कि आपकी साइट को लोकप्रिय बनाने के लिए विकसित की गईं मार्केटिंग रणनीतियां असरदार साबित हो रही हैं, वहीं दोबारा आने वाले आगंतुकों से मिलने वाले हिट्स की संख्या विषय-वस्तु की प्रभावशीलता और आगंतुकों के लिए उसकी उपयोगिता दर्शाती है

 

2. टाइम स्पेंट ऑन पेज (पेज पर बिताया समय)

यह एक और ऐसी आवश्यक माप है जिस पर आपको करीबी नज़र रखनी चाहिए। पेज पर बिताया समय, आगंतुकों द्वारा वेबपेज पर आमतौर पर बिताया गया समय मापता है। अगर आगंतुक पेज पर कम समय बिता रहे हैं तो इसके दो मतलब हो सकते हैं

  • पेज पर्याप्त आकर्षक नहीं है
  • आगंतुकों को वह नहीं मिला जिसकी तलाश में वे आए थे

उद्योग मानकों के अनुसार, पेज पर बिताया जाने वाला औसत समय 2-3 मिनट होना चाहिए। हालांकि यह समय कम मालूम दे सकता है, पर विशेषज्ञों का मानना है कि विषय-वस्तु की उपयोगिता को मापने और परस्पर व्यवहार को सक्षम बनाने के लिए इतना समय काफी है

 

3. बाउंस रेट

बाउंस की दर या बाउंस रेट इंटरनेट मार्केटिंग की दुनिया में एक लोकप्रिय शब्द है जो बताता है कि कितने प्रतिशत आगंतुक साइट पर आए लेकिन उसके दूसरे पेजों पर गए बिना वापस चले गए। वेबसाइट ट्रैफ़िक की दृष्टि से, बाउंस रेट आपको ऐसे आगंतुकों के बारे में बताता है जो आपकी वेबसाइट पर आने के बाद, अन्य कोई भी क्रिया, जैसे किसी अन्य पेज पर जाना, किए बिना वापस चले गए

बाउंस रेट का अधिक होना आपकी वेबसाइट के लिए अच्छा नहीं है। बाउंस रेट अधिक होने से प्रमुख सर्च इंजनों में वेबसाइट की रैंकिंग गिर सकती है, जिससे ट्रैफ़िक और घट सकता है

 

4. कन्वर्जन रेट

कन्वर्जन रेट शायद सबसे महत्वपूर्ण माप है क्योंकि यह आमदनी पर सीधे-सीधे असर डालती है। यह कुल आगंतुकों में से उन लोगों का प्रतिशत है जिन्होंने वह कार्य किया जो आप चाहते थे

कन्वर्जन रेट का कम होना बताता है कि या तो वेबसाइट पर गलत ट्रैफिक आ रहा है या फिर वेबसाइट आगंतुकों को आपका चाहा कार्य करवाने के लिए राजी करने में नाकामयाब रही है

 

5. टॉप पेज

यह माप आपको बताती है कि किन पेजों पर आगंतुक सबसे अधिक समय तक रुक रहे हैं। आप इसका इस्तेमाल उन कारकों के विश्लेषण के लिए कर सकते हैं जो आगंतुकों को किसी पेज विशेष पर अधिक समय तक रुकने के लिए प्रोत्साहित करते हैं

इसका इस्तेमाल करके वेबसाइट की विषय-वस्तु या डिजाइन में युक्तिपूर्ण बदलाव किए जा सकते हैं ताकि उसे लक्ष्य वर्ग के लिए अधिक आकर्षक बनाया जा सके

 

6. लोड टाइम

इसका अर्थ वेबसाइट के लोड होने में लगने वाले समय से है। लोड टाइम अधिक होने पर आगंतुक साइट के पूरा लोड होने से पहले ही लौट सकते हैं, जिससे बाउंस रेट बढ़ जाएगा। आदर्श रूप से आपकी वेबसाइट को 3 से 5 सेकंड के अंदर लोड हो जाना चाहिए। बड़े इमेज शामिल करने से बचें क्योंकि उन्हें लोड होने में अधिक समय लगता है, जिससे लोड टाइम बढ़ जाता है

आप फाइलों का आकार घटाने, उन्हें संयुक्त करने, जावास्क्रिप्ट थोड़ी देर से लोड करने, और सर्वर रेस्पॉन्स टाइम घटाने जैसे उपाय अपना कर भी अपने कारोबार की वेबसाइट की स्पीड बढ़ा सकते हैं

इन मुख्य मापों का मूल्यांकन करने से आपको अपनी वेबसाइट का बेहतर प्रदर्शन सुनिश्चित करने और ऐसा करके, चाहे गए नतीजे प्रदान करने में लंबे समय तक लाभ मिल सकता है। अपनी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ करने में मदद के लिए किसी अनुभवी डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी की सहायता लें