ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

फ़ाउंड्री में सेफ़्टी मैनेजमेंट

फ़ाउंड्री के कार्यों में कई ख़तरनाक प्रक्रियाएँ शामिल होती हैं, जो श्रमिकों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती हैं और स्वास्थ्य को नुकसान भी पहुँचा सकती हैं। टेक्नोलॉजी की नज़र से फ़ाउंड्री उद्योग सैकड़ों सालों में विकसित हुआ है। लेकिन, रेत और धातु आदि कच्चे माल की हैंडलिंग की सहज प्रकृति के कारण, ऐसे ख़तरे मौजूद रहते हैं जिन पर एक व्यवस्थित ढंग से ध्यान देना आवश्यक है ताकि जोख़िम (नुकसान की संभावना) को घटाया जा सके। किसी आम फ़ाउंड्री यूनिट में, चिंताजनक क्षेत्रों को तीन मुख्य कार्यों में निम्नवत वर्गीकृत किया जा सकता है

  1. Raw material preparation
  2. Melting
  3. Preparing the product
 

किसी आम फ़ाउंड्री के कार्यों में कई ख़तरनाक चरण शामिल होते हैं

फ़ाउंड्री सेफ़्टी में ये चीजें शामिल हैं

  1. Raw material offload
  2. Batch preparation
  3. Loading in furnace'/li>
  4. Ladle handling
  5. Casting
  6. Dust
 

हर चरण के अपने जोख़िम और ख़तरे हैं जिनका परिमाण अलग-अलग है

कच्चा माल तैयार करने वाले सेक्शन में साँचा तैयार करने का काम शामिल होता है। साँचा तैयार करने में रोज़ाना ही धूल का इस्तेमाल होता है। श्रमिकों को धूल के अत्यधिक संपर्क से बचाने के लिए पर्याप्त सुरक्षा दी जानी चाहिए

सबसे बड़ा जोख़िम है लेडल (करछुल) की हैंडलिंग, जिसमें बहुत ऊँचे तापमान पर पिघली हुई धातु को हैंडल करना होता है

भट्ठी से पिघली धातु को बाहर निकालने के सिस्टम और उसके ठीक आस-पास के क्षेत्र की डिजाइन ऐसी होनी चाहिए कि वह मानव संपर्क की नज़र से सुरक्षित हो। इसके लिए क्षेत्र की विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुसार ध्यानपूर्वक डिजाइन करना आवश्यक है। पुरानी भट्ठियों या जिन भट्ठियों में रेट्रोफ़िट आवश्यक हो उनमें पिघली धातु के एकत्रण की सुरक्षित डिजाइन पर विचार किया जाना चाहिए। कुछ अति-महत्वपूर्ण चरण इस प्रकार हैं - आउट फ़्लो की दर, आउटलेट पैन की ढाल, पिघली धातु को सैडल में उड़ेलने की आसानी, ज़मीन से ऊँचाई और पर्याप्त रिक्त स्थान। इसके अतिरिक्त, श्रमिकों को उसे चलाने की कार्य अनुमति देने से पहले एक सरल सी बातचीत के जरिए उन्हें पिघली धातु के विभिन्न ख़तरों के प्रति संवेदनशील बनाना चाहिए। इससे सुनिश्चित किया जा सकता है कि ऑपरेटर प्रक्रिया से परिचित हो, सुरक्षा के प्रति जागरुक हो, और आवश्यक सुरक्षा कार्यविधियों का (अनुभव से या अन्यथा प्रकार से) पालन करता हो। भट्ठी संबंधी कार्यों में धातु उड़लने के कार्य के दौरान सूखा, केमिकल पाउडर अग्निशामक रखने पर भी विचार किया जाना चाहिए

 

फ़ाउंड्री के कार्यों के साथ निम्नलिखित जोख़िम जुड़े होते हैं

Operation Injury or Hazard associated with operation
Raw material handling Injury to foot and toes during unloading operations
Hammering Injury to foot and toe. Injury to hands and shoulders
Batch operations- Loading furnace Injury to hand and foot
Preparation of mould Dust inhalation
Confined space loading Lack of air
Sand related operations Prolonged exposure to Silica
Furnace operation High temperature exposure
Material unloading from furnace Injury to eyes from splashing, injury to body parts, injury to foot from leaking saddles and molten material spillage
Finishing operations Small metal parts may injure eyes, sharp objects may affect hand and feet
 

पिघलाने के चरण में धातु को उच्च तापमान (>1000 डिग्री सेल्सियस) पर भट्ठी में पिघलाया जाता है। भट्ठी से जुड़े ख़तरों में मटीरियल की चार्जिंग, उसे पिघलाने, और पिघली धातु को भट्ठी से बाहर निकालने से जुड़े ख़तरे शामिल हैं। आख़िरी कार्य को सबसे अधिक जोख़िम वाला माना जाता है। पिघली धातु की हैंडलिंग सुरक्षित ढंग से की जानी चाहिए। ऑपरेटरों को उचित प्रारंभिक ट्रेनिंग के बाद ही इस कार्य में प्रवेश देना चाहिए। प्रारंभिक ट्रेनिंग में भट्ठी संचालन के पूर्व अनुभव का मूल्यांकन, फ़ैक्टरी के लेआउट की समझ, उत्पाद की आवश्यकताएँ और सुरक्षित संचालन का ज्ञान शामिल हैं। इसके लिए मैनेजमेंट द्वारा नौकरी के शुरूआती दिनों में ऑपरेटरों और श्रमिकों का मूल्यांकन करना आवश्यक हो जाता है

मैनेजमेंट को यह भी पक्का करना चाहिए कि भट्ठी और आस-पास के स्थानों को रद्दी और अनचाहे सामान से मुक्त रखा जाए। भट्ठी को सभी ओर से सुगम्य होना चाहिए। डिस्चार्ज चैनल से एंड पॉइंट तक का रास्ता भी इस प्रकार बना होना चाहिए कि बिना किसी बाधा के उस पर तेजी से चला जा सके। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे फिसलने/गिरने और लैडल (करछुल) से पिघली हुई धातु श्रमिक के शरीर पर गिरने से बचाव होगा। पिघली धातु भट्ठी से बाहर निकालने के कार्य के दौरान, सुरक्षित दूरी बनाए रखनी चाहिए ताकि पिघली धातु के छलकाव से बचाव हो सके। आउटलेट चैनल का ढाल क्रमिक होना चाहिए ताकि एकसमान प्रवाह सुनिश्चित हो। चैनल के नीचे एक छोटा गड्ढा होना चाहिए ताकि धातु का जो भी छलकाव हो वह उसमें समा जाए और ऑपरेटरों के पैर सुरक्षित रहें

इससे सुरक्षित और टिकाऊ संचालन सुनिश्चित होगा