ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

ब्रांड विस्तारण की कला सीखें

ब्रांड विस्तार एक मार्केटिंग रणनीति है जिसके तहत एक संगठन अपनी सुविकसित छवि के साथ किसी प्रॉडक्ट या सर्विस की मार्केटिंग करता है, लेकिन वह विभिन्न बिज़नेस कैटेगरी में भी एक ही ब्रांड नाम का उपयोग करता है. ब्रांड विस्तार के कई तरीके हैं जिनका इस्तेमाल आप अपने मौजूदा ब्रांड को लोकप्रिय बनाने के लिए कर सकते हैं

 

उत्पाद आधारित विस्तारण या लाइन विस्तारण का उपयोग

यह ब्रांड विस्तारण का सबसे आसान तरीका है, इसमें आप अपने मौजूदा ब्रांड को एक अलग रूप में लॉन्च करते हैं. उदाहरण के ​लिए, आपके पास 'ऐस मिल्क' नाम से एक मौजूदा ब्रांड है. आप विस्तारण के लिए इसी ब्रांड के नाम का उपयोग कन्डेंस्ड मिल्क उत्पाद को लॉन्च करने के लिए कर सकते हैं. इसी तरह, आप इसके पैरेंट ब्रांड से इसे बिलकुल अलग बनाने के बजाय अपने नए उत्पाद के साइज में बदलाव कर सकते हैं

 

कंपेनियन उत्पाद विस्तारण का उपयोग

यह ब्रांड विस्तारण का दूसरा सबसे लोकप्रिय तरीका है, जिसमें आप पूरी तरह से एक नया उत्पाद लॉन्च करते हैं, जो आपके मौजूदा उत्पाद से जटिल रूप से जुड़ा होता है. उदाहरण के लिए, माना कि आपके पास "पावर टूथपेस्ट" नाम का एक टूथपेस्ट ब्रांड है, आप इसी ब्रांड का इस्तेमाल टूथब्रश, डेंटल पाउडर और माउथवॉश उत्पाद लॉन्च करने के लिए कर सकते हैं

 

ग्राहक की फ्रेंचाइज़ी का उपयोग

आप अपने ग्राहकों की विविध आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अपने कुछ उत्पादों की फ्रेंचाइचिंग कर सकते हैं. फ्रेंचाइचिंग से आपकी संचालन लागत में भारी कमी आती है और विदेश में बिज़नेस बढ़ाने में मदद मिलती है. उदाहरण के लिए, समझ लीजिए की A देश में आपका रेस्टोरेंट है और आप इसे उसी ब्रांड के नाम से B देश में फैलाना चाहते हैं, तो ऐसे में फ्रेंचाइचिंग करना सर्वश्रेष्ठ विकल्प होता है

 

कंपनी की मूल विशेषज्ञता का विस्तार

आपके मौजूदा ब्रांड को अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए, बिलकुल अलग उत्पाद लॉन्च करने हेतु आप कंपनी की मूल विशेषज्ञता का विस्तार कर सकते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपका ब्रांड पर्सनल कंप्यूटर के लिए बाजार में लोकप्रिय है, तो आप इसी ब्रांड के नाम का उपयोग टेलीविज़न, मोबाइल फोन, फ्रिज और एयर कंडीशनर लॉन्च करने के लिए कर सकते हैं

 

ब्रांड भेद की नीति का उपयोग

ब्रांड भेद आपके ब्रांड को उत्पाद का पर्याय बनाने का एक तरीका है. इसे अलग मानने के बजाय, ग्राहक एक विशेष उत्पाद को उसी विशेष ब्रांड के साथ जोड़ रहे हैं. उदाहरण के लिए, ज़ेरॉक्स™ ने कई वर्षों तक ब्रांड अंतर की इस नीति का उपयोग किया है और फोटोकॉपी को अक्सर इसका पर्याय माना जाता है

 

कंपोनेंट ब्रांड विस्तारण का उपयोग

कई ब्रांड की स्वाद के लिए मार्केट में गहरी पकड़ होती है. अगर आपका ब्रांड लंबे समय से बाजार में हावी है, तो आप इसकी ख्याति का उपयोग करके उसी उत्पाद के अन्य फ्लेवर लॉन्च कर सकते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपका मौजूदा ब्रांड मिक्स्ड फ्रूट के लिए लोकप्रिय है, तो आप इसका इस्तेमाल अन्य फ्लेवर जैसे आम, अन्नानास, संतरा आदि लॉन्च करने के लिए कर सकते हैं

 

मौजूदा ग्राहक बेस का उपयोग

अगर आपका ब्रांड बहुत लोकप्रिय है और इसके ग्राहकों की संख्या बेहद अधिक है, तो आप इसका उपयोग करके ब्रांड का विस्तार कर सकते हैं. उदाहरण के लिए, आपके पास एक यात्रा बीमा कंपनी है, तो आप उसी ब्रांड के नाम का फॉरेन एक्सचेंज कार्ड (फॉरेक्स) अपने ग्राहकों को बांट सकते हैं

मार्केटिंग संबंधी लोगों में एक रणनीति के रूप में लोकप्रिय ब्रांड के लाभ व नुकसान दोनों हैं. इससे आपको अपने प्रतिद्वंदियों से प्रतिस्पर्धा करने में भी मदद मिल सकती है. हालांकि विफल ब्रांड विस्तारण आपके मौजूदा ब्रांड के लिए विनाशकारी सिद्ध हो सकता है. इसलिए ब्रांड का विस्तार करते समय सतर्क रहना चाहिएचाहिए और विभिन्न मार्केट कारकों को ध्यान में रखना चाहिए