ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

आप कहानी कहकर अपनी ब्रांड को मजबूती कैसे दे सकते हैं

कहानी कहना अपने ब्रांड में जिंदगी फूकने के सबसे ताकतवर तरीकों में से एक माना जाता है और यह अक्सर आपकी कंटेंट मार्केटिंग पद्धति का मुख्य घटक भी होता है। मार्केटिंग और ब्रांडिंग रणनीतियों की जुगलबंदी के जरिए अपने ब्रांड की कहानी साझा करके, आप अपने मौजूदा और भावी ग्राहकों को अपने उत्पादों के बारे में बताते हैं, और उन्हें उस सोच को देख पाने में भी मदद करते हैं जो आपने कंपनी के भविष्य के लिए सोची है

कामयाब कंपनियों में ऐसी दमदार कहानियां कहने की योग्यता होती है जो उनकी ब्रांड के प्रति ग्राहकों की धारणा को मजबूत करती हैं और बिक्री बढ़ाती हैं। अपने ब्रांड की कहानी ऐसे तरीके से कहना बहुत जरूरी है जो आपके श्रोताओं में उत्सुकता पैदा करे। यहां हम बता रहे हैं कि कैसे आप अपने कहानी कहने के हुनर में बारीक फेर-बदल कर सकते हैं और अपने ग्राहकों का यकीन जीत सकते हैं

 

ग्राहकों के साथ एक भावनात्मक ब्रांडिंग विकसित करें

भावनात्मक ब्रांडिंग एक प्रगतिशील मार्केटिंग रणनीति है जिसमें आय बढ़ाने और ग्राहकों को ज्यादा समय तक अपना बनाए रखने की क्षमता है। कोई व्यक्ति आपका उत्पाद खरीदेगा या नहीं यह आमतौर पर इस बात पर निर्भर करता है कि वह व्यक्ति आपके ब्रांड के बारे में कैसा महसूस करता है। जब आप कोई ऐसी कहानी कहते हैं जिसमें इंसानी चुनौतियां साकार होती दिखती हैं, तो आप एक ऐसा अनुभव पैदा करते हैं जो आपके ग्राहकों को अपना सा लगता है। अपने श्रोताओं के साथ एक व्यक्तिगत जुड़ाव पैदा करने के लिए, आपकी कंपनी से जुड़ी कहानियां प्रामाणिक, रचनाशील और प्रेरक होनी चाहिए

 

आंखों के जरिए मन में उतरने के लिए डिजिटल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करें

डिजिटल टेक्नोलॉजी जिसमें मोबाइल डिवाइस और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि आते हैं, बहुत तेजी से बढ़ी है और इसने असरदार ढंग से कहानी कहने के जरिए तमाम तरह के ग्राहकों की दिलचस्पी को जगाने के लिए एक तैयारशुदा नेटवर्क प्रदान कर दिया है। असरदार सामाजिक बातचीत पैदा कर सकने वाले ब्रांड, ऐसा नहीं कर पाने वाले ब्रांडों से कहीं अधिक मशहूर होते हैं। आंखों के जरिए मन में उतरने वाले ढंग से कहानी कहना यह करने का सबसे अच्छा तरीका है क्योंकि इसमें श्रोताओं द्वारा टेक्स्ट या तथ्यों की तुलना में तस्वीरों और एहसासों को फिर से याद कर सकने की संभावना अधिक होती है

 

ग्राहकों की जरूरतें समझें

बेहतर ढंग से कहानी कहने के लिए, आपको सबसे पहले एक बिज़नेस के मालिक के रूप में अपने ग्राहकों की जरूरतें समझनी होंगी। उन्हें समझ चुकने पर, आप अपने ग्राहकों को अपने ब्रांड की कहानी के ‘हीरो’ के रूप में पेश कर सकते हैं। आपको यह बात साफ तौर पर सिद्ध करनी होगी कि कहानी के हीरो को अपना अभियान कामयाबी से पूरा करने के लिए जो समाधान चाहिए, आपका ब्रांड ठीक-ठीक वही समाधान है। इससे आपके उपभोक्ताओं के साथ एक मजबूत जुड़ाव विकसित करने में मदद मिलेगी और आपके ब्रांड की छवि भी मजबूत होगी

 

कहानी में अपने श्रोताओं को अधिक से अधिक शामिल करें

अपने खुद के ब्रांड की कहानी को समृद्ध बनाने के लिए अपने ग्राहकों के योगदानों का उपयोग करें। किसी और पर फोकस करना, प्रत्यक्ष विज्ञापन के बिना ही आपके मूल्य प्रस्ताव यानि वैल्यू प्रोपोज़ीशन को स्पष्ट रूप से दिखाता है। यह रणनीति कई तरह के मीडिया के लिए अच्छी तरह काम करती है जिनमें केस अध्ययन, प्रशंसाएं, ई-बुक, और सोशल मीडिया पोस्ट शामिल हैं। अपने श्रोताओं को शामिल कर लेन से आपकी सामाजिक स्वीकार्यता भी बढ़ती है और नेटवर्किंग साइटों पर आपका ब्रांड निर्मित होता है। जब ग्राहक आपके उत्पादों का खुद इस्तेमाल करते हुए की तस्वीरें या वीडियो शेयर करते हैं, तो दूसरे लोगों में भी उसका अनुभव करने की इच्छा पैदा होती है

ऊपर बताई गई बातों के अलावा, आपको एक स्पष्ट संरचना और विषय का पालन भी करना होगा, और अपनी कहानियों में एकरूप रहना होगा। जब लोग आपके ब्रांड से प्यार करना शुरू कर देते हैं, तो आपके द्वारा सामने रखे गए हर संदेश को वे और अधिक संवेदनशीलता के साथ ग्रहण करना शुरू कर देते हैं। लगातार ये प्रयास करते रहने से आपको अपने ब्रांड को स्थापित करने में और अपने ग्राहकों के साथ मजबूत संबंध स्थापित करने में बहुत लाभ मिलेगा

तो ये थे उनमें से कुछ कारण कि क्यों आपके पास असरदार ढंग से कहानी कहने की एक ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए जो ब्रांड के बारे में पॉजिटिव संदेश भेजे और अधिक से अधिक ग्राहकों को आकर्षित करे