ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

ग्राहक खोए बिना कीमतें कैसे बढ़ाएं?

उत्पादों व सेवाओं की कीमतें बढ़ाना, किसी भी कंपनी के लिए एक बड़ा फैसला होता है। कीमतों में बढ़ोत्तरी पर कई आंतरिक और बाहरी वज़हें लागू होती हैं, और हर एक फर्म किसी न किसी समय पर लागत वृद्धि का सामना करती है। कीमतों में बढ़ोत्तरी करने वाले किसी भी उपक्रम के लिए यह विचार करना अनिवार्य होता है कि इस कदम से ग्राहक नहीं टूटने चाहिए

हालांकि सोचसमझकर योजना बनाकर उठाया गया कदम यह सुनिश्चित करता है कि फर्में, उस दिशा में सहजता से आगे बढ़ सकती हैं। इन बातों को ध्यान में रखने से कंपनियों को अपने ग्राहक आधार से समझौता किए बिना कीमतों में बढ़ोत्तरी करने में मदद मिलेगी

 

बढ़ोत्तरी के बारे में पहले से सूचित करें

अचानक बढ़ोत्तरी से ग्राहक चकित रह जाते हैं और यह उनके लिए कड़वा अनुभव होता है। इसलिए, फर्मों के लिए यह आवश्यक है कि वे अपने ग्राहकों को कीमतों में भावी बढ़ोत्तरी के बारे में पहले से सूचित करें, ताकि वे बेहतर तैयार रह सकें। आज अधिकांश उद्यम अपने ग्राहकों के नाम, पते, मोबाइल फोन नंबर और ईमेल आईडी सहित डेटाबेस रखते हैं

उद्यम, प्रत्येक ग्राहक को कीमतों में बढ़ोत्तरी के बारे में सूचित करने के लिए निजी ईमेल और संदेश भेज सकते हैं। संदेश में वह तारीख स्पष्ट दी होनी चाहिए कि बढ़ी हुई कीमतें कब से लागू होंगी। यह घोषणा, अखबारों या टीवी में विज्ञापन देकर भी की जा सकती है। चूंकि इन दिनों ज्यादातर कंपनियां, सोशल मीडिया पर अपनी उपस्थिति बनाए रखती हैं, इसलिए इन प्लेटफार्मों से भी सूचना दी जा सकती है

 

बढ़ोत्तरी का कारण स्पष्ट करें

ग्राहक ऐसी ईमानदार कंपनियों को पसंद करते हैं, जो अपने काम-काज में पारदर्शिता रखती हैं। चूंकि कीमतों में बढ़ोत्तरी, एक नाजुक कदम है, जो आधारभूत राजस्व को प्रभावित कर सकता है, इसलिए कंपनियों के लिए बढ़ोत्तरी का कारण स्पष्ट करना अनिवार्य है। कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोत्तरी, कराधान कानूनों में बदलाव, तथा कर्मचारियों की वेतनवृद्धि, आदि कंपनियों के लिए कीमतें बढ़ाने के कुछ सामान्य कारण होते हैं

बढ़ोत्तरी का कारण स्पष्ट करते हुए ग्राहकों को स्पष्ट सूचना देना, भरोसा और सम्मान बनाए रखने में अहम भूमिका निभाता है जो ग्राहक जोड़े रखने के लिए अनिवार्य है

 

अतिरिक्त ऑफर दें

कुछ अतिरिक्त ऑफर करने पर ग्राहकों द्वारा कीमतों में बढ़ोत्तरी को स्वीकार करने की संभावना अधिक रहती है। यह उपभोक्ताओं की मानसिकता है कि कीमतों में बढ़ोत्तरी होने पर वे कुछ अधिक चाहते हैं। यह दिए जाने पर वे बढ़ोत्तरी से असहज नहीं होते

उदाहरण के लिए, यदि कोई फर्म बिस्किट या स्नैक्स बनाती है, तो वर्तमान पैकेज में 10 या 15% अतिरिक्त देने पर ग्राहकों द्वारा उसे स्वीकार करने की संभावना ज्यादा रहती है। हालांकि यह सुनिश्चित करना अनिवार्य है कि वह अतिरिक्त ऑफर, कंपनी पर अधिक लागत भार न बढ़ाए वरना यह कीमतों में बढ़ोत्तरी को निरर्थक कर सकता है

 

गुणवत्ता बेहतर करें

उत्पादों और सेवाओं की गुणवत्ता में वृद्धि करना, ग्राहकों पर कीमतों में बढ़ोत्तरी का प्रभाव कम करने का एक कारगर उपाय है। उदाहरण के लिए, उक्त उदाहरण में बिस्किट और स्नैक्स बनाने वाली कंपनी, अपने उत्पादों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उनमें बेहतर संघटक उपयोग कर सकती है

ध्यान दें कि अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद खरीदते समय ग्राहक, थोड़ी अधिक कीमत देने से संकोच नहीं करते हैं। इसके बजाय वे अच्छी गुणवत्ता वाले उत्पाद देने वाली कंपनियों को पसंद करते हैं, चाहे वे कुछ अधिक कीमत ले रही हों

अपेक्षित समय सीमा में, बढ़ोत्तरी स्वीकार करने के लिए ग्राहकों की संभावना का सर्वेक्षण करने से फर्मों को, खरीदार खो देने के भय के बिना सही कदम उठाने में मदद मिलती है