ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

उपकरणों के वित्तपोषण (इक्विपमेन्ट फाइनेंसिंग) से निर्माण कंपनियां कैसे लाभ उठा सकती हैं

निर्माण एक अस्थिर व्यवसाय है, और किसी अन्य कारोबार की तरह इसके अपने जोखिम और अनिश्चितताएं हैं। आर्थिक अनिश्चितता, और बैंकों से क्रेडिट प्राप्त करने के लिए अपेक्षित मापदंड, इस बिजनेस को लाभप्रद ढंग से चलाना चुनौतीपूर्ण बनाते हैं। निर्माण उपकरणों के लिए लोन हासिल करना और आधुनिक बेहतर उपकरण प्राप्त करना, निर्माण कंपनियों हेतु कारोबार में बने रहने के लिए अनिवार्य है

निर्माण कंपनियों में उपकरण फाइनेंस लोकप्रिय हो रहा हे क्योंकि यह उनकी ज़रूरतें भलीभांति पूरी करता है। इस प्रकार की फाइनेंसिंग में, ऋणदाता, बिजनेस को कोई उपकरण खरीदने के लिए फाइनेंस करता है। इसलिए, मुख्य रूप से यह सुरक्षित ऋण है, जिसमें लोन की राशि बंधक उपकरण के मूल्य से अधिक नहीं होती। हालांकि अवधि भी उस उपकरण के उपयोगी आर्थिक जीवनकाल से अधिक नहीं होती

उपकरण फाइनेंसिंग इस तरह से निर्माण कंपनियों के लिए लाभदायक हैः

 

पूंजी संरक्षण

ये लोन, पूंजी संरक्षण का लाभ देते हैं। ऐसा इसलिए संभव होता है क्योंकि कंपनी को उपकरण खरीदने के लिए बड़ा, महंगा लोन नहीं चाहिए होता। इसके अलावा, इस तरह की फाइनेंसिंग, उस संपत्ति से संबंधित अनिश्चितता कम करने के लिए भी उपयोग की जा सकती है, जो अपेक्षित उत्पादन आउटपुट नहीं भी दे सकती है

 

परिसंपत्ति प्रबंधन

उपकरण फाइनेंसिग का एक मुख्य फायदा, परिसंपत्ति प्रबंधन के रूप में मिलता है। इससे सुनिश्चित होता है कि परिसंपत्ति के पूरे जीवनकाल में जो कि डिलीवरी से लेकर इंस्टालेशन और रखरखाव से लेकर निपटान तक का होता है, सबसे उचित प्रकार से प्रबंधित की जाएगी

 

अपडेटेड उपकरण

उपकरण फाइनेंसिग का लाभ लेकर निर्माण कंपनी, समय-समय पर अपडेटेड उपकरणों पर काम कर सकती है, जिससे उसे प्रतिस्पर्धा करने व प्रतिस्पर्धी बाज़ार में टिके रहने में मदद मिलती है। नवीनतम उपकरण प्रायः महंगे होते हैं, और सभी कंपनियों के पास उनको एक साथ खरीदने के लिए पर्याग्प्त धन नहीं होता

हालांकि इस प्रकार की फाइनेंसिंग से उनको पूरी धनराशि का एकमुश्त भुगतान करने की ज़रूरत नहीं पड़ती, बल्कि इसके बजाय वे एक बड़ी समय अवधि के दौरान नियमित रूप से चुकता कर सकती हैं

 

बिजनेस साइकल (व्यावसायिक चक्र) का लचीलापन

कुछ प्रकार के अनुबंधों में मौसमी उतार-चढ़ावों पर भी विचार किया जाता है, जो व्यवसाय को प्रभावित करते हैं। ऐसा होने पर, इस तरह की फाइनेंसिंग में मासिक किश्त कम हो जाती है, जब प्रोजेक्ट अपनी वृद्धि के चरण में होता है, और उपकरण से राजस्व नहीं मिलता, और इसके विपरीत भी होता है

 

अप्रचलित उपकरणों का प्रबंधन

उपकरण फाइनेंसिंग में, प्रायः विषयगत उपकरण के तीव्र और आसान अपडेट की सुविधा हेतु प्रावधान होता है। इससे अंततः उपकरण अप्रचलित हो जाता है और उसकी जगह पर नया वैरिएंट आता है। अपने निर्माण उपकरणों को बेहतर प्रबंधित करने के लिए उपकरण फाइनेंसिंग कंपनियां, वेंडर की सेवाएं लेती हैं

 

खर्चों की बेहतर योजना

उपकरण फाइनेंसिंग से, निरंतर बजट निर्धारण बनाए रखकर खर्चों की बेहतर योजना में भी मदद मिलती है और ऐसा बड़ा पूंजीगत व्यय नहीं करना पड़ता, जो बजट में ज्यादा अस्थिरता पैदा कर सके। कुछ मामलों में, वे खर्चों की योजना बनाने में भी मदद करते हैं

रिलायंस मनी, आकर्षक उपकरण फाइनेंस दरों पर निर्माण उपकरण लोन प्रदान करती है। केवल यही नहीं, बल्कि हमारे यहां तुरंत टर्नअराउंड समय वाली एक सरल प्रक्रिया भी है, जो ज़रूरत के समय आपको धन उपलब्ध कराती है। अधिक जानने के लिए क्लिक करें।