ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

बीच में स्कूल छोड़ने से लेकर खरबपति बनने तक : रिचर्ड ब्रैंसन की प्रेरक कहानी

रिचर्ड ब्रैंसन वर्जिन ग्रुप के संस्थापक हैं और 400 से भी अधिक कंपनियों में हिस्सेदार हैं। वे कारोबार की दुनिया के एक चमकीले सितारे हैं। कारोबार और निवेश की दुनिया का यह ब्रिटिश महारथी दुनिया का वह इकलौता उद्यमी है जिसने आठ अलग-अलग उद्योगों में अरबों डॉलर वाली आठ अलग-अलग कंपनियां खड़ी कर दी हैं जिनकी कुल मालियत 5 अरब अमरीकी डॉलर है

उनकी कंपनियां अपने क्षेत्र की कुछ सर्वश्रेष्ठ कंपनियों में से हैं, जैसे वर्जिन मेगास्टोर्स, वर्जिन मोबाइल्स, वर्जिन एयरलाइंस, और वर्जिन गैलेक्टिक जो एक अंतरिक्ष-उड़ान कंपनी है

 

15 साल की उम्र में स्कूल छोड़कर मैगज़ीन शुरू की

ब्रैंसन का पहला कारोबार युवा लोगों के लिए एक मैगज़ीन थी जिसका नाम था ‘स्टुडेंट’। उन्होंने मात्र 15 साल की उम्र में स्कूल छोड़कर दुनियाभर के लोगों से बात करना शुरू कर दिया था जिससे वे यह जान पाए कि उनके आस-पास क्या-कुछ हो रहा है। पढ़ाई में उनकी कोई रुचि न होने के चलते, उन्होंने एक ऐसी मैगज़ीन निकालने का फ़ैसला किया जो दुनिया में बदलाव लाने वाली थी। हालांकि मैगज़ीन बेस्टसेलर की सूची में जगह नहीं बना सकी, पर स्थानीय कारोबारों के विज्ञापनों की मदद से उनके पास कुछ रकम इकट्ठी ज़रूर हो गई

 

वर्जिन रिकॉर्ड्स की नींव

ब्रैंसन ने अपनी मैगज़ीन को सहारा देने के लिए डाक से रिकॉर्ड बेचने शुरू किए। आगे चलकर मैगज़ीन तो नाकामयाब हो गई, पर डाक से ऑर्डर भेजने का कारोबार चल निकला जिसे बाद में ‘वर्जिन रिकॉर्ड्स’ के नाम से जाना गया। एक साल के अंदर उन्होंने अपना खुद का रिकॉर्ड लेबल बना लिया और एक रिकॉर्डिंग स्टूडियो खोल लिया। रोलिंग स्टोंस और सेक्स पिस्टल्स को अपने लेबल तले साइन करके उनके रिकॉर्डिंग कारोबार ने सफलता के झंडे गाढ़ दिए। 23 साल की उम्र में वे करोड़पति बन चुके थे और वर्जिन रिकॉर्ड्स को बाद में वर्जिन मेगास्टोर नाम मिल गया

 

वर्जिन एयरलाइंस की शुरुआत

एक दशक से भी अधिक समय तक संगीत उद्योग में काम करने के बाद, ब्रैंसन ने 1984 में ‘वर्जिन एयरलाइंस’ शुरू की। उनके एयरलाइन कारोबार की शुरुआत के पीछे एक बहुत दिलचस्प कहानी है। जब ब्रैंसन की वर्जिन आइलैंड्स जाने वाली उड़ान रद्द हो गई, तो उन्होंने एक चार्टर्ड प्लेन खरीद लिया और उसकी टिकटें वर्जिन आइलैंड्स जाना चाह रहे लोगों को बेच दीं। तब लोगों को अनुमान नहीं था कि वह एक अरबों डॉलर वाले कारोबार की शुरुआत थी जिसे आगे चलकर ‘वर्जिन एटलांटिक’ के नाम से जाना गया

 

वर्जिन गैलेक्टिक के साथ अंतरिक्ष का सफर

समय के साथ, वर्जिन एयरलाइंस का आकार बढ़ा और उसमें वर्जिन अमेरिका और वर्जिन ऑस्ट्रेलिया भी जुड़ गए। वर्जिन गैलेक्टिक के साथ, ब्रैंसन ने व्यावसायिक अंतरिक्ष यात्रा पर अपनी नज़रें गड़ा दी हैं। ब्रैंसन का कहना है कि वे अपने अंतरिक्ष यात्रा प्रतिस्पर्धी, स्पेसएक्स से बहुत पीछे रह जाना नहीं चाहते हैं। वर्जिन गैलेक्टिक ने वाइट नाइट टू नामक अपना पहला सबऑर्बिटल स्पेस-क्राफ़्ट 13 दिसंबर, 2018 को छोड़ा और अमरीकी मानकों के अनुसार उसने बाहरी अंतरिक्ष में आधिकारिक रूप से प्रवेश किया

 

कामयाबी के साथ नाकामयाबी भी होती है

ऐसा नहीं है कि ब्रैंसन ने जिस-जिस कारोबार में हाथ डाला उन्हें हर उस कारोबार में कामयाबी मिली। वे भी कई बार नाकामयाबी का स्वाद चख चुके हैं, वह भी सबके सामने। 1994 में उन्होंने वर्जिन कोला पेश किया, जो कि बाद में उन्होंने स्वीकार किया कि वह उनकी अब तक की सबसे बड़ी कारोबारी गलतियों में से एक थी। पर उन्होंने कभी-भी नाकामयाबी को किसी बुरी चीज के रूप में नहीं देखा है। ब्रैंसन कहते हैं, “नाकामयाबी, सीखने का एक कमाल का रास्ता है, और अगर आप जोखिम नहीं उठा रहे हैं, तो आपको कुछ भी हासिल होने वाला नहीं है।”

ब्रैंसन की कामयाबी की यह रोमांचक दास्तान दुनियाभर के बहुत से युवा उद्यमियों को जोखिम लेने और शून्य में से बहुत कुछ बनाकर दिखाने के लिए प्रेरित करती है। भारत के अग्रणी वित्तीय संस्थानों में से एक होने के नाते, रिलाइंस मनी उद्यमियों को बड़ा सपना देखने और उसे साकार करने में मदद देने के लिए एसएमई लोन देता है जिससे वे अपने कारोबार को और फैला कर नई ऊंचाइयों तक ले जा सकते हैं