ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

 

एसएमई के लिए डिजिटल मार्केटिंग के 5 खुद-करें सुझाव

डिजिटल मार्केटिंग वह गतिविधि है जो आप अपनी कंपनी और उसकी सेवाओं/उत्पादों के प्रचार-प्रसार के लिए ऑनलाइन करते हैं। पूरी दुनिया ऑनलाइन होती जा रही है, ऐसे में डिजिटल स्पेस में मौजूद मार्केटिंग के मौकों को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। हालांकि, बाकी सभी मार्केटिंग गतिविधियों की तरह इसमें भी सोच-विचार, समय और मौद्रिक संसाधनों की आवश्यकता होती है

एक एसएमई होने के नाते, आप धीमी शुरूआत कर सकते हैं और किसी विवेकी डिजिटल मार्केटिंग रणनीति को अपना सकते हैं। याद रखें, आसान और अंधाधुंद सफलता के लंबे-चौड़े दावों और कहानियों के झांसे में न आएं। ऑफ़लाइन मार्केटिंग की ही तरह यहां भी, माध्यम की प्रकृति को, अपने लक्षित जनसमूह को और अपेक्षित रिटर्न को समझें

शुरूआत के लिए कुछ डिजिटल मार्केटिंग सुझाव इस प्रकार हैं

 

1. एक वेबसाइट बनाएं - सूचनाओं के खजाने का भंडार

शोध से पता चला है कि 65% उपभोक्ता किसी भौतिक स्टोर में जाने से पहले उत्पाद के बारे में ऑनलाइन खोजबीन करते हैं। यही कारण है कि आपको अपने व्यापार के लिए सबसे पहले वेबसाइट बनवाने का कदम उठाना चाहिए। आपकी वेबसाइट से पाठक को आपके व्यापार के बारे में सभी आवश्यक जानकारी मिलनी चाहिए

उसमें बुनियादी बातें, जैसे कंपनी के बारे में जानकारी, उसकी पेशकशें, गुणवत्ता नीति, संपर्क जानकारी, और विश्वास प्रेरित करने वाली विषय-वस्तु, जैसे प्रमाणन, संबद्धताएं और प्रशंसा-पत्र आदि होने चाहिए

वर्डप्रेस जैसे मंच आपको कोड या डिजाइन सीखने की ज़रूरत के बिना, आसानी से वेबसाइट बनाने की सुविधा देते हैं। आप अपनी वेबसाइट को अपने मन-मुताबिक लुक देने के लिए ढेर सारी टेम्प्लेटों और थीम्स में से चुनाव कर सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आपकी विषय-वस्तु में आपके व्यापार से संबंधित शब्द या वाक्यांश हों, इससे संभावित ग्राहकों के लिए आपको ऑनलाइन खोजना आसान हो जाएगा

 

2. ब्लॉग - आंतरिक और अतिथि

आज के समय में संलग्न करना, शिक्षित करना और सूचित करना बिक्री के शुरूआती कुछ कदम हैं। ब्लॉग अपने सेक्टर, उसके रुझानों और आपके डोमेन को आकार देने वाले कारकों के बारे में बात करने का एक तरीका है। खुद को एक विषय-वस्तु विशेषज्ञ के रूप में रखें और अपने पाठकों को गहरी अंदरूनी जानकारी प्रदान करें। इस बारे में बताएं कि किस प्रकार आपके क्लाइंट आपकी सेवाओं और उत्पादों से अधिकतम मूल्य प्राप्त कर सकते हैं

खरीद मार्गदर्शिकाएं, उपयोग मार्गदर्शिकाएं, खराबी पहचानने/ठीक करने के सुझाव, केस अध्ययन और प्रशंसा-पत्र, ये सभी आपकी ब्लॉग पहल के लिए सस्ती और अत्यधिक संलग्नकारी थीम्स हैं। उपयुक्त ढंग से बनाया गया ब्लॉग आपकी वेबसाइट पर बड़ी मात्रा में क्वालीफ़ाइड ट्रैफ़िक लाने में भी सफल हो सकता है

 

3. सामाजिक - व्यक्तिगत जुड़ाव स्थापित करें

हमारे ऑनलाइन समय के एक बड़े हिस्से की खपत सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों पर होती है। हालांकि इन प्लेटफ़ॉर्मों पर हमारे खुद के अकाउंट हैं, पर बहुत से लोग अभी-भी सोशल मीडिया को एक अनावश्यक ध्यान-भंग के रूप में देखते हैं। हालांकि, व्यापारों के लिए इसने खुद को मानवीय रूप देने तथा संभावित ग्राहकों के साथ व्यक्तिगत स्तर पर जुड़ने के अवसर पेश किए हैं

लिंक्डइन या ट्विटर पेज बनाने के लिए किसी तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता नहीं है। इन चैनलों पर अपने ग्राहकों से बात करें और उनकी पसंद-नापसंद समझें। यह अपने उत्पादों और सेवाओं का प्रदर्शन करने, नई चीजें जानने-सीखने, वैश्विक दृष्टिकोण हासिल करने, और अपने व्यापार नेटवर्क को फैलाने का भी एक अच्छा स्थान है

 

4. एनालिटिक्स - डेटा आपकी अंगुलियों पर

ऑफ़लाइन विज्ञापन के विपरीत, डिजिटल मार्केटिंग के प्रदर्शन को रियल-टाइम में मापना आसान है। इससे आपको बजट, समय, और विषय-वस्तु के संबंध में उल्लेखनीय लचीलापन हासिल हो जाता है। आप लाइव विज्ञापनों में तेजी से संशोधन एवं बारीक परिवर्तन कर सकते हैं

गूगल एनालिटिक्स आपको आपकी वेबसाइट के प्रदर्शन की जानकारी देता है, वहीं फ़ेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, पिन्टरेस्ट आदि के अपने-अपने एनालिटिक्स टूल होते हैं जो आपको यह समझने में मदद देते हैं कि लोग आपकी पोस्ट्स के साथ कैसे व कब संलग्न होते हैं। अपनी अंगुलियों पर इस ज्ञान के साथ, आप तेजी से और डेटा से प्रेरित एवं अर्थपूर्ण व्यापारिक निर्णय ले सकेंगे। उदाहरण के लिए, यदि आपको दिखे कि आपकी वेबसाइट पर आने वालों की एक बड़ी संख्या जर्मनी से है, तो आप जर्मनी में किसी व्यापार प्रदर्शनी में भाग लेने की सोच सकते हैं!

 

5. विज्ञापन - विचार सोचें, बनाएं और कायम रखें

डिजिटल मीडिया के साथ, यह आवश्यक नहीं कि आपको गूगल या लिंक्डइन आदि लोकप्रिय प्लेटफ़ॉर्मों पर अपने विज्ञापनों के रखरखाव के लिए किसी एजेंसी की सेवाएं लेनी ही पड़ें। अपने व्यापार को सबसे अच्छी तरह आप जानते हैं। और एनालिटिक्स की मदद से आप यह भी जान जाएंगे कि आपके लक्षित जनसमूह की पसंद और नापसंद क्या-क्या हैं। आप अपने अभियान को डिजाइन करें और उसकी योजना बनाएं, वहीं ये टूल्स आपको पर्दे के पीछे के डेटा के मामले में मदद देंगे

गूगल एडवर्ड्स अकाउंट के जरिए, उन मुख्य शब्दों (कीवर्ड्स) का आकलन करें जो आपके व्यापार के लिए सर्वाधिक प्रासंगिक हों। अपनी दृश्यता बढ़ाने के लिए अपनी पसंद के कीवर्ड्स के अनुसार एक गूगल विज्ञापन अभियान की योजना बनाएं। यह एक सशुल्क अभियान है, शक्तिशाली विषय-वस्तु के साथ अपने कन्वर्जन (आगंतुक > ग्राहक) अधिकतम करें। सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों पर आप प्रायोजित विज्ञापन चलवा सकते हैं और अपने संभावित ग्राहकों तक सीधे पहुंच सकते हैं

 

खोजबीन और प्रयोग करें

ऐसे कई विकल्प हैं जिनकी आप खोजबीन कर सकते हैं, जैसे वीडियो, सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन (एसईओ), ईमेल मार्केटिंग, लोकल लिस्टिंग आदि। हालांकि कोई विशेषज्ञ एजेंसी डिजिटल मार्केटिंग की रणनीतियों के मामले में आपको मदद दे सकती है, पर खुद शुरूआत करना हमेशा फायदेमंद रहता है। ऊपर बताई गईं बुनियादी बातों को ध्यान में रखें और प्रयोग करके देखें - सभी के लिए एक ही रणनीति उपयुक्त नहीं होती है

एसएमई के लिए और सुझावों, विचारों और संसाधनों के लिए रिलायंस मनी से बात करें