ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें

Text to Identify Refresh CAPTCHA कैप्चा रीफ्रेश करें

*साइन-अप करके मैं रिलायंस मनी से ई-मेल प्राप्त करने के लिए सहमत हूं

पीछे जाएं

उद्यमी कार्यक्रमों के अंतर्गत आने से भारतीय एसएमई किस तरह लाभ उठा सकते हैं

 

उद्यमी कार्यक्रमों के अंतर्गत आने से भारतीय एसएमई किस तरह लाभ उठा सकते हैं ?

वैश्विक बाज़ार, एसएमई को अनेक फायदे प्रदान करता है। नए राजस्व क्षेत्रों से लेकर कारोबारी जोखिमों की हेजिंग तक, अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कारोबार का विस्तार काफी लाभप्रद है

19वीं और 20वीं शताब्दी के दौरान अनेक देशों द्वारा वैश्वीकरण के फायदों को महसूस किया गया। एसएमई के लिए, ये फायदे विदेशी देशों की सरकारों द्वारा संचालित उद्यमिता कार्यक्रमों के रूप में आए। ऐसे कार्यक्रम अनेक प्रोत्साहन लाभ प्रदान करते हैं जिनमें विदेशी बाज़ारों में प्रवेश करने वाले एसएमई को करों में छूट, कुशल कर्मचारियों तथा तकनीक तक पहुंच, व अन्य शामिल हैं

अधिकांश देशों की सरकारें ऐसे प्रोत्साहन इसलिए प्रदान करती हैं क्योंकि जब आप उनके बाज़ार में अपना कारोबार ले जाते हैं, तो आप नए रोजगार अवसर उत्पन्न करते हैं और अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करते हैं। हालांकि इससे सारा लाभ केवल उनको ही नहीं होता। अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में अपना कारोबार विस्तार करने के 5 प्रमुख फायदे यहां बताए गए हैं

 

अछूते बाज़ार

कुछ वर्ष तक स्थानीय बाज़ार में बने रहने के बाद, आपके लिए अपना ग्राहक आधार बढ़ाना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। अपना कारोबार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाने से आपको अछूते बाज़ार(रों) में आर्थिक लाभ तथा वहां उपलब्ध अवसरों का फायदा उठाने की सुविधा मिलती है। वैश्विक होने से आपको स्वतः ही एकदम नया संभावनाशील ग्राहक आधार मिल जाता है, जिसने आपके उत्पाद या सेवाओं को पहले कभी देखा नहीं होता

यदि आप कुछ ऐसा दे रहे हैं जो विदेशी बाज़ार में भली-भांति प्रचलित नहीं है, तो शुरूआती कुछ वर्षों के दौरान आप द्वारा किसी प्रतिस्पर्धा का सामना न किए जाने की अत्यधिक संभावना रहती है। ऐसे अछूते बाज़ारों में विस्तार करने से नए राजस्व क्षेत्र भी विकसित होते हैं जिससे आपको अपने व्यावसायिक लक्ष्य अपेक्षाकृत जल्दी प्राप्त करने में मदद मिल सकती है

 

कार्पोरेट छवि

विदेशों में अपना कारोबार फैलाकर आपकी कार्पोरेट छवि को काफी लाभ होता है। यह जानी-मानी बात है कि अधिकांश ग्राहक, अंतर्राष्ट्रीय उपस्थिति वाले ब्रांड की गुणवत्ता व सेवा को तुरंत मान्यता देते हैं। इससे आपकी ब्रांड छवि और प्रतिष्ठा बनती है और घरेलू व अंतर्राष्ट्रीय दोनों बाजारों में बिक्री बढ़ाने में मदद मिल सकती है

 

निवेश के अवसर

अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में अपना कारोबारी विस्तार करने का एक बड़ा फायदा विदेशी बाज़ार में अतिरिक्त निवेश अवसरों के रूप में मिलता है। सबसे अच्छी बात ये है कि ज्यादातर विदेशी सरकारें उनके देशों में निवेश करने की इच्छुक कंपनियों को प्रोत्साहन प्रदान करती हैं

प्रत्यक्ष वित्तीय निवेश के अलावा अंतर्राष्ट्रीय विस्तार नए संसाधनों को विकसित करने, महत्त्वपूर्ण संपर्कों के विकास, तथा नई तकनीक तक पहुंच के अवसर भी प्रदान करता है। इससे आपके कारोबार को न केवल अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में बल्कि घरेलू स्तर पर भी लाभ मिलता है

 

कारोबारी जोखिमों की हेजिंग

कारोबारी माहौल गतिशील होता है और अनपेक्षित घटनाओं, प्राकृतिक आपदाओं, या रूझानों में महत्त्वपूर्ण बदलावों आदि स्थितियों में केवल घरेलू बाज़ार में कारोबार करना काफी जोखिम भरा हो सकता है। अंतर्राष्ट्रीय विस्तार के साथ आप कारोबारी जोखिमों को हेज कर सकते हैं क्योंकि इससे आपको अपनी कंपनी की संपत्तियां विविधीकृत करने में मदद मिलती है

 

नए प्रतिभासंपन्न लोगों की उपलब्धता

वैश्विक कारोबारी विस्तार का प्रायः अनदेखा कर दिया जाने वाला एक फायदा यह है कि इससे नए प्रतिभासंपन्न लोगों की उपलब्धता मिलती है। प्रायः अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार ऐसे कर्मचारियों के रूप में अद्वितीय लाभ प्रदान करता है जिनकी भाषा कुशलताएं बेहतर, शैक्षिक पृष्ठभूमियां विविधतापूर्ण होती हैं और उत्पादकता में वृद्धि होती है। नवप्रवर्तन और रचनात्मकता दो ऐसे कारोबारी क्षेत्र हैं जो विदेशी कर्मचारी जुड़ने से बहुत लाभान्वित होते हैं

जहां वैश्विक होने का प्रयास, शुरूआत में खर्च बढ़ाने वाला हो सकता है, लेकिन यह लंबे समय में निश्चित रूप से लाभकारी साबित होता है। अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में अपना कारोबार बढ़ाने हेतु आवश्यक वित्तीय सहायता के लिए आप रिलायंस मनी में व्यावसायिक विस्तार ऋण हेतु आवेदन कर सकते हैं